राजस्थान चुनाव : बाड़मेर 7 विधानसभा क्षेत्रों के लिए मतगणना की तैयारियां पूर्ण

0
62

बाड़मेर जिला मुख्यालय पर राजकीय महाविद्यालय में 11 दिसम्बर को प्रातः 8 बजे से सात विधानसभा क्षेत्रों की मतगणना प्रारम्भ होगी। इसके लिए समुचित तैयारियां की गई है।

जिला निर्वाचन अधिकारी शिवप्रसाद मदन नकाते ने बताया कि विधानसभा क्षेत्र शिव के लिए 21 मतगणना टेबल, बाड़मेर के लिए 21, बायतु 17, पचपदरा 21, सिवाना 15, गुड़ामालानी 21 एवं चौहटन विधानसभा क्षेत्र की मतगणना के लिए 15 टेबले लगाई जाएगी। उन्होंने बताया कि मतगणना  ड्यूटी मे लगाए गए समस्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों को प्रातः 6 बजे तक राजकीय महाविद्यालय में अनिवार्यरूप से उपस्थित होना होगा। इस दौरान भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतगणना कार्य में लगे कार्मिकों को पर्यवेक्षकगण की उपस्थिति में रेण्डमाईजेशन करके विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र कमरा एवं टेबल नम्बर का आंवटिन किया जाएगा। मतगणना में लगे गणना सुपरवाईजर,गणना सहायको तथा माईक्रो ऑब्जर्वर की उपस्थिति के लिए पर्याप्त संख्या में काउण्टर स्थापित किए गए है। 

 उन्होने बताया कि प्रत्येक काउटिंग टेबल पर एक काउटिंग सुपवाईजर एक काउटिंग असिस्टेट एवं एक माईक्रो आर्ब्जवर नियुक्त किया जाएगा।  

 मतगणना व्यवस्था के लिए मुख्य कार्यकारी अधिकारी कालूराम को समग्र प्रभारी एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी राकेश कुमार को प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया गया है। जिला निर्वाचन अधिकारी नकाते ने बताया है कि मतगणना स्थल तथा मतगणना के दोरान किसी भी प्रकार की लापरवाही नही बरतने के निर्देश दिए गए है।  उनके मुताबिक राजस्व अपील अधिकारी रामदेव गोयल  मीडिया कक्ष का समुचित पर्यवेक्षण एवं प्रबंधन सुनिश्चित करेगे।

 मतगणना स्थल पर स्थापित मीडिया कक्ष में अधिकृत मीडिया कर्मियों की ओर से ही मोबाईल का प्रयोग किया जा सकेगा। मतगणना कक्ष में मोबाईल फोन प्रतिबधित होने के कारण मीडिया कक्ष में मोबाईल फोन सुरक्षित रखवाने की व्यवस्था की जाएगी। 

 मतगणना के दौरान प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के एक मतदान केंद्र की ईवीएम और वोटर वेरिफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल V V P A T की पर्ची का मिलान किया जाएगा। ऐसा भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार किया जाएगा।

जिला निर्वाचन अधिकारी शिवप्रसाद मदन नकाते के मुताबिक मतगणना के दौरान प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में एक मतदान केंद्र का चयन रेंडम आधार पर किया जाएगा। चयनित मतदान केंद्र में उपयोग में लाए गए

वीवीपीएटी की पर्ची का मिलान ईवीएम के कंट्रोल यूनिट में प्रदर्शित संख्या से किया जाएगा। यह कार्य उम्मीदवार, निर्वाचन अभिकर्ताओं एवं केंद्रीय पर्यवेक्षक की उपस्थिति में होगा। इसकी विडियोग्राफी भी कराई जाएगी। मतगणना कक्ष के अंदर ही वीवीपेट की पर्ची से वोट का सत्यापन होगा। इस मतगणना के लिए वीवीपीएटी काउंटिंग बूथ ठीक वैसे ही तैयार किया जाएगा, जैसा बैंकों में होता है।

डीपीएन लाइव के लिए दिनेश बालाच की रिपोर्ट।

Share This On
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here