नहीं थम रहे दलितों पर अत्याचार: दबंगों ने नहीं निकालने दी बिंदोली

0
348

दिनेश बालाच की रिपोर्ट

चित्तौड़गढ़– चित्तौड़गढ़ जिला मुख्यालय से महज 3 किलोमीटर दूर दलित दुल्हन की घोड़ी पर बिंदोली निकाल रहे दलितों पर जातिवादी समाजकंटकों ने सरिए व लाठियों से हमला कर दुल्हन पक्ष के कई लोगों को घायल कर दिया। जिसमें दुल्हन के पिता के सिर में गंभीर चोट लगी है।
प्रदेश भर में दलित अत्याचार की घटनाएं रूकने का नाम नहीं ले रहीं हैं। संविधान जिस सामाजिक न्याय और समानता का वादा करता है, उसके लिये ऐसे जातिवादी तत्व अवरोध बने हुये हैं।
गांव लक्ष्मीपुर निवासी नाथू भाम्बी ने चित्तौड़गढ़ सदर पुलिस थाना प्रभारी को दिए प्रार्थना पत्र में गांव के ही दबंगों पर आरोप लगाते हुए बताया है कि बुद्धवार की रात्रि उसकी बेटी की शादी के मौके पर बेटी को बग्गी पर बैठाकर बिन्दोली निकाली जा रही थी, तभी गांव के रणजीत सिंह और गेंदमल गुर्जर के साथ अन्य दर्जन भर व्यक्तियों ने मारपीट करते हुए घर पर हमला कर दिया और जातिसूचक गालियों के साथ महिलाओं तक की पिटाई की है। इस हमले में दुल्हन के पिता और भाई को गंभीर चोटें आई हैं। जिन्हें चित्तौड़ सांवरिया हॉस्पिटल में उपचाररत रखा गया है।


पीड़ित परिवार के सदस्य रमेश ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस ने 4 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी अन्य लोगों पर मुकदमा दर्ज हो गया है। साथ ही प्रशासन मुस्तैदी से इस दलित हिंसा के आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने की मांग की है।

Share This On
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here