पाकिस्तान में एक दर्जन गर्ल्स स्कूल एक साथ आग के हवाले

0
138

नई दिल्ली- पाकिस्तान के अशांत क्षेत्र गिलगित-बाल्टिस्तान में लड़कियों के 12 स्कूलों को आग के हवाले कर दिए जाने की ख़बर सामने आई है. कहा जा रहा है कि कुछ अज्ञात लोगों ने पूरी योजना के साथ स्कूलों को निशाना बनाया.

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक शुक्रवार देर रात उपद्रवियों ने गिलगित से 130 किलोमीटर दूर चिलास कस्बे के स्कूलों को बर्बाद कर दिया. पुलिस का कहना है कि इन लोगों ने डायमर जिले में भी स्कूलों को नुकसान पहुंचाया है. पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक दो स्कूलों में विस्फोटक भी लगाए गए थे. जिला प्रशासन के मुताबिक ये स्कूल अभी बन रहे थे. घटना के बाद पुलिस ने इलाके में तलाशी अभियान शुरू किया है. वहीं, स्थानीय लोगों ने स्कूलों को जलाए जाने का विरोध करते हुए शिक्षण संस्थानों की सुरक्षा की मांग की है.

पाकिस्तान में लड़कियों के स्कूलों और उनकी शिक्षा का अक्सर विरोध किया जाता है. साल 2011 में चिलास में ही कम तीव्रता वाले धमाकों के जरिए ऐसे ही स्कूलों को नुकसान पहुंचाया गया था. तब दो लड़कियां भी धमाकों में घायल हुई थीं. इस साल की शुरुआत में भी दो स्कूलों को उड़ा दिया गया था. साल 2004 में भी चिलास के स्कूलों पर एक के बाद एक हमले हुए थे. तब नौ स्कूलों में से आठ को पांच दिनों में बर्बाद कर दिया गया था. आतंकी खैबर पख्तूनख्वा और जनजातीय क्षेत्रों में बने स्कूलों को भी निशाना बनाते रहे हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक बीते दस साल में पाकिस्तान के जनजातीय इलाकों में करीब 1500 स्कूलों को तबाह कर दिया गया.

ऐसे ही हमलों में पाकिस्तान की नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई को भी गोली मारी गई थी. वे स्वात में लड़कियों की शिक्षा के लिए प्रयास कर रही थीं. इसी से नाराज होकर तालिबान ने उन पर जानलेवा हमला किया था. इन घटनाओं के चलते पाकिस्तान में बड़ी संख्या में बच्चों की शिक्षा प्रभावित होती है, खास तौर पर लड़कियों की.

Share This On
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here