भारत अगर एक कदम आगे आएगा तो हम उसकी तरफ दो कदम बढ़ाएंगे : इमरान खान

0
47

इस्लामाबाद- क्रिकेटर से नेता बने इमरान खान ने पाकिस्तान के आम चुनाव में अपनी जीत का ऐलान कर दिया है. उन्होंने टीवी पर पाकिस्तान की जनता को संबोधित किया. इसमें उन्होंने कहा कि वे अपने देश की सेवा करने के लिए तैयार हैं. इमरान खान ने कहा, ‘मैं 22 साल पहले इसलिए राजनीति में आया क्योंकि मैं चाहता था कि पाकिस्तान ऐसा देश बने जैसा (मोहम्मद अली) जिन्ना ने सोचा था. यह एक ऐतिहासिक चुनाव था. मैं अल्लाह का शुक्र अदा करना चाहता हूं जिसने मुझे देश की सेवा करने का मौका दिया.’

इसके साथ ही भारत-पाकिस्तान संबंधों पर उन्होंने कहा है, ‘भारत अगर हमारी तरफ एक कदम बढ़ाता है तो हम उसकी तरफ दो कदम बढ़ाएंगे.’ हालांकि उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि फिलहाल भारत कई मामलों में पाकिस्तान को एक-तरफा दोषी ठहराता है. इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि दोनों देशों के बीच कश्मीर विवाद मुख्य समस्या है और इसे बातचीत से सुलझाया जाना चाहिए.

इस विवादित चुनाव में प्रचार के दौरान इमरान खान ने पाकिस्तान के लोगों से कई लोक-लुभावन वादे किए थे. उन्होंने कहा था कि वे पाकिस्तान से भ्रष्टाचार का सफाया कर देंगे और उसे एक कल्याणकारी इस्लामिक देश बनाएंगे. चुनाव में इमरान खान को पाकिस्तान की सेना का पूरा समर्थन हासिल था. इमरान ने अपने यहां के इस्लामिक संगठनों से कहा था कि वे भारत से संबंधों को लेकर नवाज शरीफ की पार्टी पीएमएल-एन से ज्यादा सख्त रवैया दिखाएंगे. माना जा रहा है कि उनके इस रुख का भी उन्हें चुनावों में फायदा मिला है.

वहीं, अमेरिका को लेकर इमरान आलोचनात्मक रहे हैं. अफगानिस्तान युद्ध के लिए वे अमेरिका को जिम्मेदार मानते हैं. साथ ही चीन की कर्ज नीति को लेकर भी वे खुल कर बोलते रहे हैं. इमरान खान का मानना है कि चीन से अरबों डॉलर कर्ज लेकर पाकिस्तान बुरी तरह पिछड़ गया है.

इमरान खान ने कहा

– पहले के हुक्मरान अपनेआप पर खर्च करते थे. आज से यह नहीं होगा. हम सादगी से रहेंगे. इतने बड़े प्रधानमंत्री निवास में नहीं रहेंगे. कोई छोटी जगह देखेंगे. मैं आवाम के टैक्स की हिफाजत करूंगा.

– कश्मीरी लंबे वक्त से संघर्ष कर रहे हैं. हमें कश्मीर विवाद एक साथ बैठकर बातचीत से सुलझाना होगा. अगर भारत यह इच्छा रखता है तो हम बातचीत कर सकते हैं. यह पूरे प्रायद्वीप के लिए भी अच्छा होगा.

– भारतीय मीडिया ने मुझे जिस तरह पेश किया उससे मैं निराश हूं. मैं उन पाकिस्तानियों में से हूं जो भारत के साथ अच्छे रिश्ते चाहते हैं.

– हमें गरीबी से लड़ना होगा. चीन हमारे आगे एक मिसाल है जिसने 30 सालों में 70 करोड़ लोगों को गरीबी से उबारा है.

Share This On
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here