14 बच्चों को दस्तारबंदी कर किया सम्मानित दीन और इमान पर चलने की दी गई सलाह

0
14

संवाददाता अजीम कुरैशी की रिपोर्ट
नूरपुर – फतेहबाद मार्ग स्थित मदरसा जामिया अराबिया मआरुफुल उलूम में रविवार की सुबह जलसा दस्तर बन्दी व तालीमी बैदारी कोंफ्रेन्स का आयोजन किया गया।
इस आयोजन के दौरान मदरसा में पढ़ने वाले वैसे 14 बच्चे जो हिफ़्ज़ कुरान हुए। उन्हें उक्त जलसा में दस्तार बन्दी कर सम्मानित किया गया। जलसे की अध्यक्षता मौलाना मुफ्ती आब्दुर्रहमान नोगावीं, जबकि जलसे का संचालन मोलाना मजाहिरुल हक गदरपुरी ने किया। जबकि धन्यवाद ज्ञापन मदरसा के मोहतमिम मौलाना मौहम्मद इमरान मजाहिरी ने किया।
नमाज पढ़ना अल्लाह का बनाया हुआ। कानून जलसा के मुख्य अतिथि मुफ्ती आफ्फान जामा मस्जिद अमरोहवी,ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि नमाज़ पढ़ना ये हमारा या आपका बनाया हुआ क़ानून नहीं बल्कि अल्लाह का बनाया हुआ कानून है। अगर हमारे अंदर अल्लाह का डर और प्यारे नबी की मोहब्बत है, तो हम नमाज और कुरान जरूर पढेंगे। उन्होंने कहा कि जिस घर में नमाज नहीं पढ़ी जाती उस घर में कभी बरकत हो ही नहीं सकती है। कुदरत के आगे कोई कुदरतगार नहीं है। उसके ताकत के आगे कोई ताकतवर नहीं है। कुरान पढ़ने की जवाबदेही और नमाज अदा करने का फर्ज सिर्फ हाफिजों का नहीं बल्कि इस्लाम को मानने वाले हर व्यक्ति को है। जलसे को मुफ्ती मौहम्मद अब्दुर्रहमान नोगांवी ने वक्ताओं ने संबोधित करते हुए कहा कि मुस्लिम समाज के लोगों को चाहिए कि आपने बच्चों को इस्लाम व कुरान की तालीम सबसे पहले है। कुरान की तालीम नही होगी तो इंसान ऐसा है जेसे मिट्टी का ढेर है।
इस अवसर पर मुफ्ती अफ्फान जामा मस्जिद अमरोहा व मुफ्ती आब्दुर्रहमान नोगांवी ने संयुक्त रूप से 14 बच्चों को मों मूसा पुत्र हकीम असरारुल हक नूरपुर, मो
अजमल मौहम्मद अरशद पुत्रगढ मोलाना मो अली, मो तालिब पुत्र मेहंदी हसन, इलाहबास नंगला, मो लुकमान पुत्र मोलाना अबरार नूरपुर, मो नईम पुत्र मेंहदी हसन नूरपुर, मो अफजाल पुत्र मो इलियास नूरपुर, मो शमशाद पुत्र मो दिलशाद पुरैनी, मो फैजान पुत्र कफील अहमद नूरपुर, मो जैद पुत्र मो रिजवान नूरपुर, मो फईम पुत्र मो युनुस अमहैड़ा, मो दाऊद पुत्र फयाजुद्दीन आजमपुर, मो जुहैब पुत्र मो ऐहसान नूरपुर, मो ऐजाज पुत्र अली हसन ननहैड़ा, को पगड़ी बांध कर सम्मानित किया।
इस अवसर पर जलसे में मुफ्ती अब्दुर्रहमान नोगांवी, मुफ्ती अफ्फान जामा मस्जिद अमरोहा, मोलाना मजाहिरुलहक हरदोई, मोलाना मो अली नूरपुर , मोलाना अबरार नूरपुर, मोलाना लतीफुर्रहमान मारूफ, कारी अतीकुर्रहमान पपसरा, तथा बच्चों के परिजन आदी मौजूद रहे।

Share This On
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here